` ABOUT UTTARAKHAND

ABOUT UTTARAKHAND

उत्तराखंड भारत के उत्तर -पश्चिम में स्थित है,जिसका आकर आयताकार है | पूर्व से पश्चिम तक इसकी लम्बाई 358 किलोमीटर तथा उत्तर से दक्छिण तक इसकी चौड़ाई 320 किलोमीटर है | उत्तराखंड का क्षेत्रफल 43,483 वर्ग किलोमीटर है | उत्तराखंड का क्षेत्रफल  भारत के कुल क्षेत्रफल का 1.69 % है, तथा क्षेत्रफल  के अनुसार भारत का स्थान 19 वा है|
उत्तराखंड भारत का 27 वा राज्य 9 नवम्बर 2000 को अस्तित्व में आया तथा इसका पुराना नाम उत्तरांचल था | उत्तराखंड से उत्तराँचल नाम बनाने में 6 वर्ष 1 माह 23 दिन लगे,यह 11वा विशेष राज्य है | उत्तराखंड को विशेष राज्य बनाने की घोषणा 2 मई 2001 को हुई, जबकि 1 अप्रैल 2001 से उत्तराखंड को 11 वा विशेष राज्य माना जाने लगा |
उत्तराखंड राज्य में दो मंडल (कुमाऊं तथा गढ़वाल) और 13 जिले हैं | जिनमे से 6 जिले कुमाऊं में तथा 7 जिले गढ़वाल में स्थित हैं | उत्तराखंड राज्य का गठन 9 नवम्बर 2000 को हुआ था | यह भारतीय गणतंत्र का 27वा राज्य है | उत्तराखंड राज्य की राजधानी देहरादून है |

उत्तराखंड के प्रतीक चिन्ह:

राज्य चिन्ह:

  • उत्तराखंड राज्य ने अप्रैल 2001 में राज्य प्रतीक चिन्ह घोषित किये थे |
  • एक गोलाकार मुद्रा पर 3 पर्वत चोटियों की पर्वत श्रंखला और उसके नीचे गंगा की 4 लहरें तथा बीच की चोटी में अशोक की लाटऔर उसमे मुंडोकोपनिषद से लिया गया शब्द "सत्यमेव जयते" है|
  • राज्य चिन्ह में उत्तराखंड के भौगोलिक स्वरुप की झलक मिलती है|


राज्य पशु:

  • कस्तूरी मृग उत्तराखंड का राज्य पशु है ,यह लगभग 2000 से 5000 मीटर की ऊँचाई तक पाया जाता है जो मुख्यतः केदारनाथ ,अस्कोट ,फूलों की घाटी और उत्तरकाशी में पाया जाता है | इसका रंग भूरा होता है ,जिसमे काले पीले रंग के धब्बे होते हैं| कस्तूरी सामान्यतः 1 वर्ष से अधिक के नर मृग में पायी जाती है|
  • इस मृग का वैज्ञानिक नाम मास्क्स काईसोगास्टर है| मादा मृग की गर्भधारणअबधि छ: माह होती है तथा एक बार में एक ही मृग जन्म लेता है|


राज्य वृक्ष:

  • बुरांश उत्तराखंड का राज्य वृक्ष है,इसका वैज्ञानिक नाम रोड़ोड्रेनड्रान अरबोरियम है|
  • यह मध्य हिमालय  में पाया जाता है | वन अधिनियम 1974 के तहत बुरांश को संरक्षित वृक्ष  घोषित लिया गया था| यह ह्रदय रोगियों के लिए उपयोगी होता है | बुरांश के फूलों का रंग चटक लाल होता है,ऊँचाई पर बढ़ने पर इसका रंग क्रमशः गहरा लाल और हल्का लाल मिलता है|
  • ग्यारह हजार फुट की ऊँचाई पर सफ़ेद रंग के बुरांश के फूल पाए जाते हैं|
  • वन अधिनियम 1974 में  बुरांश को संरक्षित वृक्ष घोषित किया गया|

 

राज्य पक्षी:

  • उत्तराखंड का राज्य पक्षी मोनाल है,इसे हिमालय के मयूर नाम से भी जाना जाता है|
  • यह लगभग 2500 से  5000 मीटर की ऊँचाई पर घने जंगलों में पायी जाती है|
  • मोनाल तथा डफिया एक ही प्रजाति के पक्षी हैं,लेकिन मोनाल मादा पक्षी है|
  • इसका वैज्ञानिक नाम लोफोफोरस इम्पिजेनस है | मोनाल नेपाल का राष्ट्रीय पक्षी है |