` रूपए 50,000 में बेचने जा रहे थे महिला को, उत्तराखंड पुलिस ने धर दबोचा

रूपए 50,000 में बेचने जा रहे थे महिला को, उत्तराखंड पुलिस ने धर दबोचा

एण्टी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की प्रभारी ने अपनी जान की परवाह न करते हुए, महिलाओं की खरीद फरोख्त गिरोह के दो सदस्यों को किया गिरफ्तार

उधमसिंह नगर। यह घटना जिला ऊधम सिंह नगर की है कि मुखबिर की सूचना पाकर एण्टी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की प्रभारी ने अपनी जान की परवाह न करते हुए गिरोह के 2 सदस्यों को गिरफ्तार किया और उन्हें जेल भेज दिया है |

uttarakhand-news

मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुयी कि कुछ लोग स्विफ्ट डिजायर कार में एक महिला को जबरदस्ती बैठाकर ट्रांजिट कैम्प से बेचने के लिए गदरपुर की ओर जा रहे है और मुखबिर ने यह भी कहा कि जल्दी करो तो वे लोग पकड़े जा सकते हैं। सूचना पर निरीक्षक बसन्ती आर्य द्वारा एण्टी हयूमन ट्रैफिकिंग टीम के साथ गाबा चौक से करीब 50 मीटर आगे  वाहन के आने का इन्तजार किया गया। 

15-20 मिनट इन्तजार करने के बाद एक वाहन स्विफ्ट डिजायर सूचनानुसार आते दिखाई देने पर वाहन को पास आने पर टीम द्वारा रोकने का प्रयास किया गया किन्तु वाहन चालक ने कार को नहीं रोका और निरीक्षक बसन्ती आर्य को टक्कर मारते हुए गदरपुर की ओर भाग गया। जिसका पीछा टीम द्वारा करने पर वाहन को सोबती कॉण्टीनेन्टल होटल गदरपुर रोड के पास पकड़ लिया गया। 

वाहन को रोकते ही वाहन में बैठे दो पुरुष व एक महिला मौका देखकर भाग गये व वाहन चालक भी भागने का प्रयास करने लगा जिसे मौके पर ही पकड़ लिया गया। वाहन में एक महिला व वाहन चालक सहित दो व्यक्ति मिले। महिला द्वारा बताया कि मुझे ये लोग जबरदस्ती बेचकर गदरपुर ले जा रहे हैं। 

कार में बैठी महिला ने बताया कि जो महिला गाड़ी से भागी है उसका नाम लक्ष्मी पत्नी मलकीत सिंह निवासी तकुनिया लखीमपुर खीरी उ.प्र. हाल डिवाइन होम रुद्रपुर की रहने वाली है और उसके साथ अन्य लोग भी हैं। जिसने मुझे 50,000/- रुपये में बेचा है और वह पैसे लेकर उन लोगों के साथ भाग गई है। 

वाहन चालक ने बताया कि हम लोग इस महिला को ट्रांजिट कैम्प से 50,000/- रुपये में बेचकर गदरपुर ले जा रहे थे। बेचने के सारे पैसे लक्ष्मी के पास थे जो मौके से भाग गई है । 

घटना के दौरान निरीक्षक बसन्ती आर्य को चोटिल करने पर मेडिकल परीक्षण उपचार कराया गया।अभियुक्तगणों के विरुद्ध कोतवाली रुद्रपुर में एफआईआर पंजीकृत कर वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। भागे हुए अन्य अभियुक्त गणों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैंजिन्हें जल्द ही पकड़ लिया जाएगा |



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ