` उत्तराखंड पुलिस द्वारा प्रारम्भ किया गया "मिशन मर्यादा" , धार्मिक स्थलों पर गलत कार्य करने वालों के खिलाफ की जायेगी कार्यवाही

उत्तराखंड पुलिस द्वारा प्रारम्भ किया गया "मिशन मर्यादा" , धार्मिक स्थलों पर गलत कार्य करने वालों के खिलाफ की जायेगी कार्यवाही

विगत दिनों में कई ऐसे केस देखे गए हैं कि उत्तराखंड के बाहर तथा राज्य के ही लोग पर्यटन स्थलों तथा तीर्थ स्थलों में आकर तीर्थ स्थलों की मर्यादा तथा प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं | बाहर से आये पर्यटकों द्वारा उत्तराखंड के धार्मिक स्थलों को भी पिकनिक स्पॉट बना दिया गया है | यही देखते हुए इसके नियंत्रण हेतु उत्तराखंड पुलिस द्वारा " मिशन मर्यादा " चलाया गया है |

uttarakhand-latest-news

वर्तमान दिनों में प्रकाश में आया कि कुछ लोगो द्वारा मां गंगा के किनारे अश्लील वीडियो बनाकर वायरल किये गये। अतः राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप तीर्थ-स्थलों की मर्यादा एंव पर्यटन स्थलों की स्वच्छता बनाये रखने हेतु पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार द्वारा मिशन मर्यादा चलाने की घोषणा की गयी।

क्या है मिशन मर्यादा ?

मिशन मर्यादा के अन्तर्गत पुलिस द्वारा तीर्थ-स्थलों की जनता एंव पुलिस को मर्यादा बनाये रखने हेतु तीर्थ स्थलों पर मादक पदार्थों का सेवन, मांसाहार करने अथवा अन्य प्रतिबन्धित गतिविधियों एंव किसी भी प्रकार के दुर्व्यवहार करने वालों के विरूद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही की जाऐगी। 

इसके अतिरिक्त पर्यटन स्थलों पर गंदगी फैलाने वालों, मादक पदार्थो की अवैध बिक्री अथवा दुव्र्यहार करने वालों के विरूद्व भी पूर्व से स्थापित कानूनों के अनुरूप कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी। आगामी 15 दिवसों तक इस कार्यवाही को प्रमुखता से करते हुए आंकलन किया जायेगा। 

मिशन कोे प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने हेतु प्रत्येक प्रभारी अपने कुशल एंव व्यवहारशील कर्मियों को तैनात कर व्यक्तिगत रूप से इसका आंकलन करें।

आम जनमानस से अपील 

यदि कोई भी व्यक्ति उपरोक्त से सम्बंधित कुछ भी करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर वैधानिक कार्यवाही की जा सकती है | इसलिए प्रत्येक नागरिक से अपील है कि यदि वे उत्तराखंड भ्रमण के लिए आ रहे हैं तो यहाँ आकर प्रकृति का लुत्फ़ उठायें तथा किसी भी प्रकार का कानूनी अपराध ना करें |

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ