` उत्तराखंड में जल्द ही बनेगा उत्तर भारत का प्रथम वेस्ट टू एनर्जी प्लांट, अब कूड़े से बनेगी बिजली

उत्तराखंड में जल्द ही बनेगा उत्तर भारत का प्रथम वेस्ट टू एनर्जी प्लांट, अब कूड़े से बनेगी बिजली

रुड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लान्ट लगाने की तैयारी, यहाँ अब  कूड़े से बनाई जायेगी बिजली

रुड़की। उत्तराखंड शहरी विकास विभाग के सहयोग से रुड़की में उत्तर भारत का वेस्ट टू एनर्जी (कूड़े से बिजली बनाये जाने) का प्लांट जल्द ही लगाए जाने की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। 

uttarakhand-news

मेयर गौरव गोयल ने बताया कि शहरी विकास विभाग सचिव शैलेश बगौली ने वर्चुअल बैठक के माध्यम से रुड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लान्ट लगाए जाने में आ रही समस्याओं की जानकारी ली, ताकि शीघ्र ही इस महत्वकांक्षी योजना को शुरू किया जा सके। 

उन्होंने यह बताया कि वर्ष-2019 में इस योजना का प्रारूप तैयार किया गया था और प्रदेश के सत्रह निकायों को सम्मिलित करते हुए नगर निगम रुड़की में प्लांट लगाने हेतु निविदा आमंत्रित की गई थी, परंतु ट्रांसपोर्टेशन की कीमत अधिक आने के कारण किसी भी फर्म द्वारा प्रोजेक्ट की निविदा में प्रतिभाग नहीं किया गया था। अब केवल रुड़की क्लस्टर के स्थानीय निकायों के प्रतिदिन उत्पन्न होने वाले दो सौ मीट्रिक टन कूड़े की उपलब्धता के साथ नए स्वरूप में निविदा निकली जा रही है ।

रुड़की नगर निगम की मुख्य नगर आयुक्त नुपूर वर्मा ने बताया कि पुरानी निविदा को संशोधित कर नए सिरे से जल्द निविदा की जाएगी। 

उपरोक्त बैठक में उरेडा के निदेशक, यूपीसीएल के मुख्यअभियंता, आईआईटी के डिप्टी रजिस्ट्रार श्रीवास्तव, मुख्य अभियंता रवि पांडेय व सहायक नगर आयुक्त चन्द्रकांत भट्ट आदि ने वर्चुअल मीटिंग में भाग लिया। 

मेयर गौरव गोयल ने इस महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट हेतु निगम की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन सचिव शहरी विकास को दिया गया। यह उत्तर भारत का प्रथम वेस्ट टू एनर्जी प्लांट होगा, जो उत्तराखंड राज्य के लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ