` टटलू गैंग का साइबर ठग हुआ गिरफ्तार, विश्वास में लेकर यह गैंग करता था ठगी

टटलू गैंग का साइबर ठग हुआ गिरफ्तार, विश्वास में लेकर यह गैंग करता था ठगी

1,24,990 रूपये की ऑनलाइन ठगी करने वाले टटलू गैंग के एक साइबर ठग को हरियाणा से किया गया गिरफ्तार

चम्पावत। लोकेश्वर सिंह पुलिस अधीक्षक चम्पावत के आदेशानुसार एवं क्षेत्राधिकारी चम्पावत/ टनकपुर के निर्देशन में जनपद चम्पावत में साइबर क्राईम/सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों के माध्यम से किये जाने वाले अपराधो की रोकथाम एवं इस प्रकार के अपराधियो के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करने हेतु जनपद चम्पावत के सभी थाना प्रभारीयो एवं प्रभारी साइबर सैल को निर्देशित किया गया था।

uttarakhand-samachar

जनवरी 2021 में जनपद चम्पावत के थाना बनबसा में एक युवक द्वारा बताया गया कि 30.01.2021 को अज्ञात साईबर ठग द्वारा कॉल कर अपने को मेरा रिस्तेदार बताकर 10 हजार रू0 की मदद मांगी गयी। 

युवक द्वारा मना करने के बाद भी  ठग द्वारा काफी अर्जेन्ट होने पर फोन पे लिंक को भेजकर मदद मांगी गयी । युवक द्वारा उक्त लिंक को ओके करने पर युवक के खाते से एक लाख चौबीस हजार नौ सौ नब्बे रूपये की धनराशि अपने आप ठग के खाते में ट्रान्सफर हो गयी ।

पुलिस टीम द्वारा अभियोग के अनावरण हेतु पुलिस कार्यालय में स्थित साइबर/सर्विलांस सैल एवं अनावरण हेतु गठित पुलिस टीम द्वारा उक्त घटना के क्रम में फोन पे, गूगल पे, पेटीएम व ऑनलाइन बैको की डिलेट के माध्यम से साइबर ठग की पहचान की गयी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया |

टटलू गैंग कैसे करता है साइबर अपराध

गैंग के सदस्य लोगों को उनका रिस्तेदार बताकर कॉल कर या फेसबुक, व्हाट्सअप के माध्यम से मैसेज भेजकर मदद मांगकर तथा आर्मी पर्सन की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर वाहन आदि बेचने के नाम पर या अन्य कई तरीको से सोशल साइट पर भोले भाले लोगो को अपने विश्वास में लेकर ठगी करते है। 

यह लोग अपने गैंग को मेवात, हरियाणा तथा अलवर राजस्थान से संचालित करते थे तथा छोटे छोटे गैंग बनाकर कई क्षेत्रों में फैलकर काम करते है। उक्त गिरोह भोले भाले लोगों के खातो से निकाले गयी धनराशी को यदि कैश नही निकाल पाते है तो अन्य सदस्यो की मदद से तुरन्त ऑनलाइन शॉपिग करा देते है, जिससे कि ठगी किया गये रूपये पुलिस वापन न करा सके । इसके अतिरिक्त पुलिस से पकड़ें जाने के डर से ये लोग लगातार अपनी लोकेशन भी बदलते रहते है।  

ई- सुरक्षा चक्र साइबर हेल्पलाइन नम्बर -155260, आपत्तिजनक स्थिति में यहाँ करें कॉल


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ