` चारधाम यात्रा पर अब यू टर्न, दिनांक 16 जून के बाद लिया जाएगा यात्रा प्रारम्भ करने का निर्णय

चारधाम यात्रा पर अब यू टर्न, दिनांक 16 जून के बाद लिया जाएगा यात्रा प्रारम्भ करने का निर्णय

दिन में यात्रा खोलने की घोषणा, शाम को एसओपी में नहीं किया जिक्र

चारधाम यात्रा को चरणबद्ध ढंग से खोले जाने के मामले में प्रदेश सरकार ने कुछ ही घंटों में यू टर्न ले लिया। दिन में उत्तराखंड  सरकार ने कोविड कर्फ्यू को जारी रखते हुए तीन जिलों चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में स्थानीय लोगों के लिए बदरीनाथ, केदारनाथ और गंगोत्री यमुनोत्री के दर्शन की सशर्त अनुमति की घोषणा की थी किन्तु अब कहा गया है कि चार धाम यात्रा को प्रारम्भ करने का अंतिम फैसला 16 जून को लिया जाएगा |

uttarakhand-news

शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल की ओर से जानकारी दी गई है कि कोविड की आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट की अनिवार्यता के साथ स्थानीय लोग अपने-अपने जिलों में धाम के दर्शन कर सकेंगे। लेकिन राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से कोविड कर्फ्यू को लेकर जो मानक प्रचालन प्रक्रिया जारी की गई, उसमें चारधाम यात्रा को सशर्त खोले जाने का जिक्र नहीं था।

मामले की पड़ताल हुई तो पता चला कि चारधाम यात्रा को खोले जाने के संबंध में मामला न्यायालय में विचाराधीन है। 16 जून को प्रदेश सरकार को न्यायालय में यात्रा पर अपना पक्ष रखना है। इसके बाद ही सरकार चारधाम यात्रा के संबंध में निर्णय लेगी। 

पहले सरकार जारी करेगी अधिसूचना, फिर शुरू होगी चारधाम यात्रा

सरकार की ओर से अधिसूचना जारी करने के बाद ही चार धामों में चरणबद्ध तरीके से लोगों को दर्शन की अनुमति दी जाएगी। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड ने बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में ठहरने व खाने के साथ ही स्वास्थ्य, बिजली, पानी और सफाई व्यवस्था करने के लिए 15 दिन का समय मांगा है। देवस्थानम बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन ने कहा कि चारधाम यात्रा को शुरू करने के लिए सरकार तिथि तय कर अधिसूचना जारी करेगी। जिसके बाद बोर्ड की ओर से कोविड महामारी के नियमों का पालन करने के लिए मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की जाएगी। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा को तत्काल शुरू नहीं किया जा सकता है। 

पर्यटन विभाग यात्रा के लिए जारी करेगा एसओपी

चारधाम यात्रा को चरणबद्ध ढंग से शुरू करने पर पहले प्रदेश सरकार निर्णय लेगी। इसके बाद उसके पर्यटन विभाग यात्रा के संचालन को लेकर अलग से मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करेगा। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर के मुताबिक, कोविड कर्फ्यू के संबंध में राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी एसओपी में चारधाम यात्रा का उल्लेख नहीं है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ