` अलकनन्दा, नन्दाकिनी तथा पिण्डर नदियों का जल स्तर पहुँचा खतरे के निशान के पास

अलकनन्दा, नन्दाकिनी तथा पिण्डर नदियों का जल स्तर पहुँचा खतरे के निशान के पास

चमोली जनपद में यदि आपदा में कहीं फँस गए हो तो इन नम्बरों पर करो कॉल

चमोली। मौसम विज्ञान विभाग, देहरादून द्वारा जारी भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए जिला प्रशासन ने तहसील स्तरों पर आईआरएस टीम को अलर्ट रहने के निर्देश जारी कर दिए है। सभी अधिकारियों को अपने क्षेत्रों में बने रहने तथा किसी भी आपदा या दुर्घटना की स्थिति में जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र चमोली के दूरभाष 01372-251437, 1077, 7830839443, 7055753124, 9068187120 तथा 7579004644 नंबरों पर सूचनाओं को आदान प्रदान करते हुए त्वरित स्थलीय कार्रवाई करने को कहा गया है। 


सड़क निर्माणदायी संस्थाओं को मोटर मार्ग अवरूद्व होने पर तत्काल खुलवाने हेतु उचित कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए गए है। समस्त जनपद वासियों को भी विशेष सर्तकता एवं सावधानी बरतने की सलाह दी गयी है।

जनपद कि नदियाँ उफान पर, मंडरा रहा है खतरा

जिले में विगत रात्रि से बारिश लगातार जारी है। शुक्रवार सुबह तक तहसील चमोली में 67.8 एमएम, गैरसैंण में 59 एमएम, कर्णप्रयाग में 26 एमएम, पोखरी में 30 एमएम, जोशीमठ में 60.6 एमएम, थराली में 31.2 एमएम तथा घाट में 56 एमएम वर्षा रिकार्ड की गई। 


जिले की प्रमुख नदियों में
अलकनन्दा नदी का जल स्तर खतरे का निशान 957.42 मी0 के सापेक्ष 953.40 मी0, नन्दाकिनी नदी का जल स्तर खतरे का निशान 871.50 मी0 के सापेक्ष 868.65 मी0 तथा पिण्डर नदी का जल स्तर खतरे का निशान 773.00 मी0 के सापेक्ष 770.28 मी0 के लेवल पर बह रही हैं। ये सभी नदियां अभी खतरे के निशान से नीचे बह रही है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ