` Kedarnath Dham में e-Paas के नाम पर मची है लूट - जानिये कैसे बचें ?

Kedarnath Dham में e-Paas के नाम पर मची है लूट - जानिये कैसे बचें ?

 भगवान् शिव को समर्पित केदारनाथ मन्दिर सम्पूर्ण दुनिया में केदारनाथ धाम के नाम से जाना जाता है, यह धाम उत्तराखंड के चार धामों (बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री तथा यमुनोत्री) में से एक धाम है तथा उत्तराखंड राज्य का भगवान् शिव का सबसे बड़ा मन्दिर भी है | केदारनाथ धाम ही उत्तराखंड के पंच केदारों में से एक केदार भी है | यूँ तो कहा जाता है कि भगवान की मर्जी के बिना कोई भी भक्त भोले तक नहीं पहुँच पाता है और यदि भोले अपने भक्तों को बुलाएं तो दुनिया की कोई ताकत उन्हें पहुँचने से रोक भी नहीं सकती है |

जैसा कि आपने सुना ही होगा कि केदारनाथ धाम में जाकर बाबा केदार के दर्शन पाने तक श्रद्धालुयों को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, इसलिए आज उत्तराखंड सामान्य ज्ञान के इस लेख में ऐसी ही होने वाली परेशानियों के बारे में जानेंगे, तथा उनसे कैसे बचा जा सकता है यह भी बताएँगे | उम्मीद करते है कि आपको यह लेख पसन्द आएगा, सम्पूर्ण जानकारी पाने के लिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें |

जानिये केदारघाटी में e-Pass के नाम पर लोगों को कैसे ठगा जा रहा है ?

Covid -19 के चलते वर्तमान समय में चार धाम यात्रा करने के लिए e-Pass का होना आवश्यक है और प्रत्येक पर्यटक या दर्शनार्थी इस बात से अवगत नहीं है, जिसकी बजह से गन्तव्य पर पहुंचकर उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है | जैसा किआप सभी जानते ही होंगे कि केदारनाथ धाम भी उत्तराखंड के पवित्र चार धामों में से एक धाम है, तथा यहाँ आने के लिए प्रत्येक दर्शनार्थी को e- Pass बनवाना आवश्यक है |

केदारघाटी में e-Pass बनाने के नाम पर लोगों को ठगा जा रहा है, वहां पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति से 100 रुपये चार्ज किये जा रहे हैं, जो कि एक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए बहुत बड़ी धनराशी है | अपने निजी अनुभव के आधार पर मै सभी को बताना चाहता हूँ कि यदि आप केदारनाथ या फिर चारों धामों में से किसी भी धाम जा रहे हैं तो सर्वप्रथम अपना e-Pass स्वमं पहले से ही बना लें, जिससे आपका कीमती वक्त बचेगा और आप अपने समय के अनुसार यात्रा पूरी कर पायेंगे |

केदारघाटी में ऑनलाइन e-Pass बनवाने के लिए लोगों की लम्बी लाइन लग जाती है तथा दर्शनार्थियों को लम्बे समय तक लाइन में ही खड़ा रहना पड़ता है, और वे अपने तय किये गए समय पर केदारनाथ मन्दिर के लिए चढ़ाई नहीं कर पाते हैं | आगे के लेख में आप यह जानेंगे कि इस परेशानी से कैसे बचा जा सकता है और स्वमं से ऑनलाइन e-Pass कैसे बनायें ?

Online registration for Char Dham Yatra -2020

यदि आप उत्तराखंड के चार धाम में से किसी भी धाम जा रहे हैं तो आपको यात्रा e-Pass बनवाना अति आवश्यक है, आप नीचे दिए गए ऑफिसियल वेबसाइट के लिंक पर क्लिक करके अपना यात्रा e-Pass आसानी से बनवा सकते हैं |

Official website link

Process for online registration for Char Dham Yatra- 2020

ऑनलाइन e-Pass बनवाने के लिए सर्वप्रथम आपको उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबन्धन बोर्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा |

online registration for kedarnath
 

  • होम पेज पर दिए गए सभी निर्देशों को पढ़कर नीचे दिए गए check box में क्लिक करके proceed for yatra पर क्लिक करें 
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलने के बाद point a पर अपनी व्यक्तिगत जानकारी भरें तथा ID प्रूफ के लिए अपनी ID का स्क्रीनशॉट submit करें | (फोटो का अधिकतम साइज़ 150 kb तक होना चाहिए)
  • Point b में अपना पता तथा अपनी contact details भरें, तथा address proof के लिए अपनी ID का स्क्रीनशॉट submit करें | (फोटो का अधिकतम साइज़ 150 kb तक होना चाहिए)
  • Proceed for e Verification पर क्लिक करें 
  • अपने साथ जाने वाले सभी साथियों की details भरें 

 

registration for kedarnath

इस तरह आप अपनी चारधाम यात्रा के लिए आसानी से yatra e-Pass बना सकते हैं और थोडा सा समय देकर ही आप आपके 100 रूपए (प्रति व्यक्ति) तथा अपना कीमती वक्त बचा सकते हैं |

 उम्मीद करते हैं कि उत्तराखंड सामान्य ज्ञान की केदारनाथ धाम में हो परेशानियों तथा उसके सुझाव से सम्बंधित यह लेख आपको पसंद आया होगा | यह समय ऐसा है कि प्रत्येक व्यक्ति इस समय चार धाम यात्रा जाना चाहता है या जा रहा है | हमारे किसी भी पाठक को इस परेशानी का सामना ना करना पड़े इसके लिए इस लेख को अधिक से अधिक शेयर करें | लेख को शेयर करने के लिए आप सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, इन्स्टाग्राम तथा ट्विटर इत्यादि का प्रयोग भी कर सकते है | भविष्य में भी हम आपको समय समय पर जानकारी देते रहें इसके लिए आप हमसे जुड़े रहें |

धन्यवाद 

Facebook में जुड़ें 

Instagram में फॉलो करें

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां