` Hanuman Dham Mandir Ramnagar, Uttarakhand – श्री हनुमान धाम हनुमान जी को समर्पित उत्तराखंड के रामनगर में स्थित भव्य मन्दिर

Hanuman Dham Mandir Ramnagar, Uttarakhand – श्री हनुमान धाम हनुमान जी को समर्पित उत्तराखंड के रामनगर में स्थित भव्य मन्दिर

श्री हनुमान धाम मन्दिर

हनुमान धाम मन्दिर उत्तराखंड राज्य के रामनगर में छोई नामक स्थान के अंजनी ग्राम में हनुमान जी को समर्पित भव्य मन्दिर है | हनुमान जी का यह मन्दिर रामनगर से 7.5 किलोमीटर तथा जिला मुख्यालय नैनीताल से लगभग 59 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |

मन्दिर के मुख्य द्वार पर दो मछलियों का चित्रण भाग्य और सम्रद्धि का प्रतीक है | मन्दिर भवन को बहुत खुबसूरत नक्कासी के साथ बनाया गया है | हनुमान जी के इस मन्दिर में तीन तरफ से प्रवेश द्वार तथा चौथी तरफ हनुमान जी की विशाल मूर्ती है, जिसमे अस्टरत्न जड़े हुए हैं | हनुमान जी ने जिस गदा को पकड़ा हुआ है, वह गदा भी रत्नों से जड़ी हुई है | हनुमान जी की विराट मूर्ति का प्राण प्रतिष्ठा समारोह 16 अप्रैल से 22 अप्रैल तक महान हनुमान जयंती के अवसर पर आयोजित किया गया था | इच्छा पूर्ति के लिए यहाँ पर धागे बांधे जाते है , तथा वर्तमान में यहाँ पर लाखों धागे बांधे हुए हैं |

श्री हनुमान धाम मन्दिर

श्री हनुमान धाम मन्दिर

मन्दिर परिसर में हनुमान जी की मुख्य मूर्ति के अलावा हनुमान जी की अनेक मूर्तियाँ हैं, जिनके द्वारा हनुमान जी के कई रूपों को शिल्पकारों के द्वारा ढाला गया है |

हनुमान जी के कई रूप जिन्हें मूर्तियों में ढाला गया है –

  1. माँ अंजना के साथ बाल हनुमान जी की मूर्ती को बहुत सुन्दर रूप दिया गया है | 
  2. मन्दिर में स्थापित हनुमान जी की पंचमुखी मूर्ति शिल्पकारों की अद्भुत देन है | 
  3. राम,सीता तथा लक्ष्मण जी की मूर्ति जिसमे हनुमान जी उनके चरणों में हैं, उनकी भक्ति को दर्शाती है | 
  4. रामायण का पाठ करते हुए हनुमान जी की मूर्ति ऐसी प्रतीत होती है, मानो मूर्ति में जान हो | 
  5. जब हनुमान जी राम तथा लक्ष्मण जी को कंधे पर बैठा कर लंका ले जाये रहे थे, उस दृश्य को मूर्तिकारों ने बहुत आकर्षक रूप दिया है | 
  6. द्रोण पर्वत (संजीवनी) लंका ले जाते हुए हनुमान जी की मूर्ति यहाँ स्थापित है | 
  7. ह्रदय चीरकर राम तथा लक्ष्मण को ह्रदय में दिखाते हुए हनुमान जी की स्थापित मूर्ति मन को भा लेती है |

इन सब मूर्तियों के अलावा मन्दिर परिसर में ही गणेश जी की मूर्ति भी स्थापित की गयी है | हनुमान मन्दिर में स्थित सभी मूर्तिओं को शिल्पकारों के द्वारा इतनी सफाई से बनाया गया है, मानो ऐसा लगता है, कि हनुमान जी स्वम आपके सामने प्रकट हो गए हों |

मन्दिर परिसर में दिव्यांगों के लिए बनाया जा रहा है रेस्ट हाउस

हनुमान जी को समर्पित यह विशाल मन्दिर श्री हनुमान धाम सेवा, भक्ति और शान्तिपूर्ण जीवन के लिए एक केंद्र है, जो पूरी तरह से कल्याण के साथ है |

इस मन्दिर ट्रस्ट के द्वारा दिव्यांगों का खयाल रखते हुए मन्दिर परिसर में व्हील चेयर्स तथा लिफ्ट की व्यवस्था की गयी है, जिससे उन्हें हनुमान जी के दर्शन करने में किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा | मन्दिर ट्रस्ट के द्वारा दिव्यांगों के लिए मन्दिर परिसर में ही विश्राम करने हेतु एक विशाल भवन का निर्माण भी करवाया जा रहा है, जो कि अभी निर्माणाधीन है | इस भवन में अनेकों कमरे हैं, जिनमे दिव्यांगो की प्रत्येक सुविधा का खयाल रखा जाएगा |

मन्दिर परिसर में ही स्थित हैं शिवालय तथा दुर्गा मन्दिर

कितना सुखद होगा वह पल जब आप हनुमान जी तथा भगवान् राम के दर्शन के लिए जाते हैं, और उसी स्थान पर भगवान् शिव और माता दुर्गा के दर्शन भी साथ ही हो जाएँ | श्री हनुमान धाम मन्दिर में शिवालय तथा दुर्गा मन्दिर को भी बनाया गया है |

शिवालय के अन्दर एक विशाल शिवलिंग स्थित है, जहाँ पर स्रद्धालुओं द्वारा जल चढ़ाया जाता है, तथा भगवान् शिव की पूजा अर्चना की जाती है |

मन्दिर परिसर में स्थित दुर्गा मन्दिर में माँ दुर्गा की मूर्ति को बहुत ही खूबसूरत ढंग से सजाया गया है, तथा हनुमान जी के दर्शन के साथ साथ यहाँ पर माँ दुर्गा के भी दर्शन हो जाते हैं |

मन्दिर परिसर में एक विशाल पार्क बनाया गया है, जो श्री हनुमान धाम मन्दिर में चार चाँद लगा देता है |

महाम्रत्युन्जय वाटिका

हनुमान धाम मन्दिर परिसर में बहुत ही खूबसूरत महाम्र्तुन्जय वाटिका है, जिसे रामायण काल की वाटिका की तरह ही बनाया गया है, तथा इस वाटिका को बहुत ही सुन्दर रूप दिया गया है | वाटिका में भगवान् शिव की मूर्ति के रूप में एक फव्वारे का निर्माण किया गया है, जिसमे से निकलता पानी ऐसा प्रतीत होता है, मानो शिव जी जी जटाओं से गंगा निकल रही हो |

वाटिका में ही विश्राम के लिए चबूतरे बांये गए हैं, जिन्हें बहुत ही सुन्दर ढंग से व्यवस्थित किया गया है | यहाँ बैठकर श्रद्धालू प्रकृति का आनन्द ले सकते हैं | महाम्र्तुन्जय वाटिका से मुख्य मन्दिर का दृश्य बहुत ही सुन्दर दिखाई देता है |

महाम्र्तुन्जय मन्त्र को मारकंडेय मुनि के द्वारा लिखा गया था |

Places to Visit Near Hanuman Dham Temple

How to Reach Hanuman Dham Mandir ? 

How to Reach Hanuman Dham Mandir?

By Road (सड़क मार्ग द्वारा)

यदि आप सड़क मार्ग द्वारा श्री हनुमान धाम पहुँचना चाहते हैं, तो सर्वप्रथम आपको रामनगर पहुँचना होगा | रामनगर से रामनगर - कालाढूंगी मार्ग पर यह मन्दिर छोई नामक स्थान पर लगभग 7.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |

By Train (रेल मार्ग द्वारा)

यदि आप रेल यात्रा कर रहे हैं और आपको हनुमान धाम जाना है तो, निकटतम रेलवे स्टेशन रामनगर में ही स्थित है | स्टेशन पहुँचने के बाद आप टैक्सी या फिर स्थानीय बसों की सहायता से आसानी से पहुँच सकते हैं |

By Air(हवाई यात्रा द्वारा)

यदि आप हवाई यात्रा में रूचि रखते हैं, तो निकटतम हवाई अड्डा “पंतनगर हवाई अड्डा” है, जो कि रामनगर से कुछ 77 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | यहाँ पहुँचने के बाद स्थानीय बसों तथा टैक्सी की मदद से श्री हनुमान धाम आसानी से पहुँचा जा सकता है |

उम्मीद करते हैं कि ”उत्तराखंड सामान्यज्ञान” की यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी | यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई तो हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे facebook पेज को like कीजिये |

Facebook Page Link

यदि आप उत्तराखंड की मनमोहक तस्वीरें देखना पसन्द करते हैं, तो “उत्तराखंड सामान्य ज्ञान” के instagram पेज को follow कीजिये |

Instagram Link

धन्यवाद

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां